भारत के सरकारी और प्राइवेट बैंक की सूची – Sarkari Bank ka Naam

Sarkari Bank ka Naam – बैंक दो प्रकार के होते हैं एक सरकारी बैंक और एक प्राइवेट बैंक – सरकारी बैंक वे बैंक होते हैं जो सरकार के अंदर में होते हैं जिसका संचालन सरकार द्वारा किया जाता है और इन बैंकों में लोग परीक्षा की तैयारी करने के बाद सरकारी परीक्षा में पास करते हैं उसके बाद इन बैंकों में उन्हें नौकरी दी जाती है और या नौकरी Permanent होती है। सरकारी बैंकों का स्वामित्व 51% से ज्यादा सरकार के पास होता है।

सरकारी बैंकों का संचालन केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों ही मिलकर भी कर सकती हैं। भारतीय स्टेट बैंक हमारे देश का सबसे बड़ा सार्वजनिक बैंक है जिस पर 52% स्वामित्व सरकार का है।

प्राइवेट बैंक में बैंक जिनका संचालन किसी सामान्य व्यक्ति द्वारा किया जाता है ये बैंक जो भी कार्य होते हैं वह रिजर्व बैंक के अंदर किए जाते हैं इस बैंक में यदि आप नौकरी करते हो तो वह परमानेंट नहीं होता। निजी बैंकों का स्वामित्व पूर्ण रूप से किसी संस्था या फिर किसी वक्ती विशेष के पास होता है।

जीतने भी लोग सरकारी नौकरी की तलाश करते हैं वे इस बात को हमेशा सर्च करते हैं कि भारत में कौन-कौन से बैंक सरकारी है और कौन-कौन से प्राइवेट।

कुछ सालों पहले भारत में 21 सरकारी बैंक थे, किन्तु अब केंद्र सरकार द्वारा सरकारी बैंकों का एक दूसरे बैंक में विलय कर दिया गया है जिसके बाद भारत में कुल 12 सरकारी बैंक हैं।

बैंक क्या होता है?

बैंक एक ऐसा संस्थान होता है, जिसे लाइसेंस प्राप्त वित्तीय संस्थान कहते हैं ये पैसों की लेनदेन करता है बैंक कई प्रकार के होते हैं जैसे वाणिज्यक बैंक, खुदरा बैंक, निवेश बैंक और कॉर्पोरेट बैंक इन प्रकार के कई सारे बैंक होते हैं।

बैंक अपने ग्राहक को विभिन्न प्रकार की सेवाएं देता है जैसे वित्तीय सेवाएं, मुद्रा विनिमय, धन प्रबंधन और लॉकर की सुविधाएं भी प्रदान कराता है लॉकर की सुविधाएं जिसमें आप अपने जरूरी कागजात और गहनों को रख सकते हैं।

सरकारी बैंक की सूची व उनका राष्ट्रीकरण

यह सूची विलय के पहले की है भारत में पहले कुल 21 राष्ट्रीय बैंक थे उनके नाम कुछ इस प्रकार हैं और साथ ही उन का राष्ट्रीयकरण कब किया गया उसके बारे में भी जानकारियां दी गई हैं।

बैंक का नामराष्ट्रीयकरण कब हुआ
आंध्रा बैंक (Andhra Bank)1980
इलाहाबाद बैंक (Allahabad Bank)1969
बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank of Baroda)1969
बैंक ऑफ इंडिया (Bank of India)1969
बैंक ऑफ महाराष्ट्र (Bank of Maharashtra)1969
केनरा बैंक (Canara Bank)1969
सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया (Central Bank of India)1969
कॉर्पोरेशन बैंक (Corporation Bank)1980
देना बैंक (Dena Bank)1969
इंडियन बैंक (Indian Bank)1969
इंडियन ओवरसीज बैंक (Indian Overseas Bank)1969
ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (Oriental Bank of Commerce)1980
पंजाब एंड सिंध बैंक (Punjab & Sind Bank)1969
पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank)1969
भारतीय स्टेट बैंक (SBI)1955
सिंडीकेट बैंक (Syndicate Bank)1969
यूको बैंक (UCO Bank)1969
यूनियन बैंक ऑफ इंडिया (Union Bank of India)1969
यूनाइटेड बैंक ऑफ़ इण्डिया1969
विजया बैंक (Vijaya Bank)1969

भारत सरकारी बैंक की सूची

विलय के बाद बहुत सारे बैंकों को एक दूसरे से मिला दिया गया, जिसकी वजह से अब पूरे भारत में केवल 12 सरकारी बैंक है। जिनका 51% स्वामित्व सरकार के हाथ में होता है और इन बैंकों को केंद्र और राज्य सरकार दोनों मिलकर चलाती हैं।

भारत के कुल 12 सरकारी बैंकों के नाम उनका मुख्यालय और राष्ट्रीयकरण कब किया गया पूरी जानकारी नीचे सारणी में दी गई है।

बैंक का नाममुख्यालयराष्ट्रीयकरण कब हुआ
पंजाब नेशनल बैंकनई दिल्ली1969
बैंक ऑफ इंडियामुंबई1969
भारतीय स्टेट बैंकमुंबई1955
सेंट्रल बैंक ऑफ इंडियामुंबई1969
यूनियन बैंक ऑफ इंडियामुंबई1969
पंजाब एंड सिंध बैंकनई दिल्ली1969
यूको बैंककोलकाता1969
बैंक ऑफ बड़ौदागुजरात1969
इंडियन ओवरसीज बैंकचेन्नई1969
इंडियन बैंकचेन्नई1969
केनरा बैंकबैंगलोर1969
बैंक ऑफ महाराष्ट्रपुणे1969

दोस्तों यह सभी है भारत के सार्वजनिक बैंक और उनके बारे में थोड़ी जानकारियां।

पंजाब नेशनल बैंक – पंजाब नेशनल बैंक को पहला भारतीय बैंक कहा जाता है, इसकी स्थापना 12 अप्रैल 1895 ई को अनारकली बाजार लोहार वर्तमान पाकिस्तान में की गई थी इसका नेतृत्व लाला लाजपत राय के द्वारा किया गया अब इस बैंक के 110 मिलियन से अधिक ग्राहक और 7001 शाखाएं और 10681 एटीएम है।

वेबसाइट – www.pnbindia.in

बैंक ऑफ इंडिया – भारत के मुख्य पांच बैंकों में से एक बैंक है बैंक ऑफ इंडिया इस देश भर में 5100 से भी अधिक शाखाएं हैं भारत के बाहर भी बैंक ऑफ इंडिया की शाखाएं हैं। बैंक SWIFT (सोसायटी फॉर वर्ल्डवाइड इंटर बैंक फाइनेंशियल टेलीकॉम) का संस्थापक सदस्य है। बैंक में सरकार की हिस्सेदारी 64.4% है।

वेबसाइट – www.bankofindia.com

भारतीय स्टेट बैंक – देश का सबसे बड़ा और सबसे पुराना बैंक भारतीय स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया हैं। इस बैंक की 24000 से भी अधिक शाखाएं हैं और 42 करोड़ से अधिक ग्राहक इस संस्थान के सदस्य हैं और 59000 से भी अधिक एटीएम हैं।

वेबसाइट – sbi.co.in

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया – सेंट्रल बैंक ऑफ़ इंडिया की कुल शाखाएं 4715 है यह बैंक भारत के सभी केंद्र शासित प्रदेश और सभी राज्यों में स्थित हैं।

वेबसाइट – www.centralbankofindia.co.in

यूनियन बैंक ऑफ इंडिया – यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया का उद्घाटन महात्मा गांधी के द्वारा किया गया इस बैंक में सरकार की 90% शेयर पूंजी है पूरे भारत में इस बैंक की 4200 से अधिक शाखाएं हैं और इसमें चार विदेशी शाखाएं भी हैं या अब तक 7000 से अधिक एटीएम सुविधा केंद्र खोल चुका है।

वेबसाइट – www.unionbankofindia.co.in

पंजाब एंड सिंध बैंक – पंजाब एंड सिंध बैंक का मुख्यालय नई दिल्ली में है इसका राष्ट्रीयकरण 1969 ईस्वी में किया गया।

वेबसाइट – https://www.psbindia.com

यूको बैंक – सबसे पहले UCO बैंक को कोलकाता, पश्चिम बंगाल में स्थापित किया गया था। इसकी स्थापना घनश्याम दास बिड़ला ने की थी।

वेबसाइट – www.ucobank.com

बैंक ऑफ बड़ौदा – भारत का तीसरा राष्ट्रीयकृत बैंक बैंक ऑफ बड़ौदा है पूरी दुनिया में इसकी 9583 शाखाएं हैं और पूरे भारत में 10441 से भी अधिक एटीएम सुविधा केंद्र है भारत सरकार ने 17 सितंबर 2018 को बैंक ऑफ बड़ौदा विजया बैंक और देना बैंक को एक साथ विलय करने की घोषणा की ताकि इस बैंक को देश का तीसरा सबसे बड़ा ऋण दाता बैंक बनाया जा सके।

वेबसाइट – www.bankofbaroda.com

इंडियन ओवरसीज बैंक – इंडियन ओवरसीज बैंक का नाम तो आपने सुना ही होगा इस बैंक की कुल 3700 शाखाएं हैं और यह बैंक ना केवल भारत बल्कि विदेशों में भी कार्यरत है विदेशों में इसकी 8 शाखाएं हैं।

वेबसाइट – www.iob.in

इंडियन बैंक – इंडियन बैंक पूरे भारत में लगभग 2820 शाखाएं हैं इस बैंक को 15 अगस्त 1907 ई को स्वदेशी आंदोलन के दौरान अस्तित्व में लाया गया था इस बैंक में सरकार की 81.51% हिस्सेदारी है।

वेबसाइट – http://www.indianbank.in/

केनरा बैंक – केनरा बैंक भारत में सार्वजनिक क्षेत्र का सबसे बड़ा बैंक में से एक है पहले इस बैंक का नाम सेवारत बैंक था। 1910 ईस्वी में इस बैंक का नाम बदलकर केनरा बैंक लिमिटेड कर दिया गया आज के वक्त में इस बैंक की 6310 शाखाएं हैं और 10026 से भी अधिक एटीएम सुविधाएं हैं।

वेबसाइट – www.canarabank.com

बैंक ऑफ महाराष्ट्र – बैंक ऑफ़ महाराष्ट्र की शुरुआत सबसे पहले 16 सितंबर 1935 ई को महाराष्ट्र के पुणे शहर में की गई थी

वेबसाइट – www.bankofmaharashtra.in

भारत में प्राइवेट बैंक की सूची 2023 

भारत जैसे बड़े शहर में कुल 21 प्राइवेट बैंक है, और यह बैंक 24 घंटे कार्यरत रहती है और अपने ग्राहकों को सेवा प्रदान करती हैं प्राइवेट बैंकों में नौकरी पाना सरकारी बैंकों में नौकरी पाने से थोड़ा आसान होता है।

बैंक का नामस्थापना वर्षमुख्यालय
ऐक्सिस बैंक1993मुंबई, महाराष्ट्र
बंधन बैंक2015कोलकाता, पश्चिम बंगाल
सीएसबी बैंक1920त्रिशूर, केरल
सिटी यूनियन बैंक१९०४कुंभकोणम, तमिल नाडु
डीसीबी बैंक1930मुंबई, महाराष्ट्र
धनलक्ष्मी बैंक1927त्रिशूर शहर, केरल
फेडरल बैंक1931अलुवा, कोच्चि
एचडीएफसी बैंक1994मुंबई, महाराष्ट्र
आईसीआईसीआई बैंक1994मुंबई, महाराष्ट्र
आईडीबीआई बैंक1964मुंबई, महाराष्ट्र
आईडीएफसी फर्स्ट बैंक2015मुंबई, महाराष्ट्र
इंडसइंड बैंक1994पुणे, महाराष्ट्र
जम्मू और कश्मीर बैंक1938श्रीनगर, जम्मू-कश्मीर
कर्नाटक बैंक1924मंगलुरु, कर्नाटक
करूर वैश्य बैंक1996करूर, तमिल नाडु
कोटक महिंद्रा बैंक2003मुंबई, महाराष्ट्र
नैनीताल बैंक1922नैनीताल, उत्तराखंड
आरबीएल बैंक1943मुंबई, महाराष्ट्र
साउथ इंडियन बैंक1929त्रिशूर, केरल
तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक1921तूतीकोरिन, तमिलनाडु
यस बैंक2004मुंबई, महाराष्ट्र

यह उन बैंकों की सूची है जिन्हें अन्य बैंकों के साथ विलय कर लिया गया है कुल नौ बैंक को मिला लिया गया है अन्य बैंकों के साथ जिसकी जानकारी नीचे सारणी में दी गई हैं।

बैंकराष्ट्रीयकरण वर्ष
इलाहबाद बैंक1969
सिंडिकेट बैंक1969
देना बैंक1969
यूनाइटेड बैंक ऑफ़ इंडिया1969
आंध्रा बैंक1980
कॉर्पोरेशन बैंक1980
ओरिएंटल बैंक1980
विजया बैंक1969
न्यू बैंक ऑफ़ इंडिया

Sarkari Bank ka Naam FAQ

भारत में कुल कितने सरकारी बैंक है?

भारत में कुल 12 सरकारी बैंक हैं।

विलय से पहले भारत में कुल कितने बैंक थे?

विलय होने से पहले भारत में कुल 21 सरकारी बैंक थे।

सेंट्रल बैंक ऑफ़ इंडिया का राष्ट्रीयकरण कब किया गया?

सेंट्रल बैंक ऑफ़ इंडिया का राष्ट्रीयकरण 1969 ई को किया गया इसका मुख्यालय मुंबई में स्थित है।

भारत में कुल कितने प्राइवेट बैंक हैं?

भारत में कुल 21 प्राइवेट बैंक हैं।

प्राइवेट बैंक का स्वामित्व किसके पास होता है?

प्राइवेट बैंक में स्वामित्व पूर्ण रूप से किसी संस्था या फिर किसी व्यक्ति विशेष के पास होता है।

सरकारी बैंक में पूर्ण स्वामित्व किसके पास होता है?

सरकारी बैंक में है सरकार के पास बैंकों का 51% से ज्यादा स्वामित्व होता है।

निष्कर्ष

दोस्तों https://naukrijobs.net/ की इस पोस्ट के माध्यम से आपने जाना सरकारी बैंक के नाम क्या-क्या होते हैं, सरकारी और प्राइवेट बैंक कैसे कार्य करते हैं, भारत के सरकारी और प्राइवेट बैंकों की सूची आपको बताई गई है, बैंकों का राष्ट्रीयकरण कब किया गया और अब भारत में कितने सरकारी और प्राइवेट बैंक है। सारी जानकारी आपको इस पोस्ट पर दी गई है अधिक जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पर सर्च करें।

Leave a Comment